Total Pageviews

Followers

Sunday, July 21, 2013

टांगा हुआ चाँद ...

लो टांग दिया है चाँद ... ठीक तुम्हारी बालकनी के सामने ... अब न कहना कि हमारे इश्क़ मे अब वो बात नहीं रही !! 
 
 — बेहद थका हुआ हूँ ... अरे भई चाँद टांगना कोई बच्चों का खेल नहीं !!

7 comments:

  1. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन जानिए क्या कहती है आप की प्रोफ़ाइल फोटो - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    ReplyDelete
  2. :-)
    superb!!!

    जी भर के आराम करो...हक बनता है..

    अनु

    ReplyDelete
  3. आपके ब्लॉग को ब्लॉग एग्रीगेटर "ब्लॉग - चिठ्ठा" में शामिल किया गया है। सादर …. आभार।।

    ReplyDelete
  4. वाकई चांद टांगना कोई हंसी खेल है क्या, बहुत खूबसूरत फोटो ।

    ReplyDelete